Swami Vivekananda Jayanti Quotes 2024: विवेकानंद की जयंती पर ये 10 अनमोल विचार युवाओं के भीतर भर देंगे प्रेरणा, बदल जाएगा जीवन

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes, swami vivekananda jayanti kab hai: भारत की स्वर्णिम विरासत में विवेकानन्द का नाम स्वर्णाक्षरों में अंकित है। हर साल 12 जनवरी को, जो राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है, लोग स्वामी विवेकानन्द जयंती मनाते हैं। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य युवाओं को स्वामी विवेकानन्द के विचारों और उद्देश्यों से परिचित कराना है। 12 जनवरी, 1863 को कोलकाता में जन्मे स्वामी विवेकानन्द को उनके शुरुआती वर्षों में नरेंद्रनाथ दत्त के नाम से जाना जाता था। उनकी मां, भुवनेश्वरी, एक गृहिणी थीं, जबकि उनके पिता, विश्वनाथ दत्त, पेशे से वकील थे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आम धारणा के विपरीत, स्वामी विवेकानन्द को अपना नाम अपने गुरु रामकृष्ण परमहंस से नहीं मिला। ऐसा कहा जाता है कि जब स्वामी जी को अमेरिका की यात्रा करनी पड़ी और उनके पास धन की कमी थी, तो राजपूताना के खेतड़ी राजा ने उनके सभी खर्चों का भुगतान किया और नरेंद्रनाथ दत्त को स्वामी विवेकानन्द नाम दिया। 

swami vivekananda jayanti quotes in hindi 2024

नरेंद्र दत्त जब 25 वर्ष के थे तब उन्होंने भगवा वस्त्र धारण किया था। इसके बाद, उन्होंने पूरे भारत में पैदल यात्रा की। शिकागो, अमेरिका ने 1893 में विश्व धर्म परिषद की मेजबानी की। भारतीय प्रतिनिधि के रूप में स्वामी विवेकानन्दजी वहाँ थे। उस समय यूरोप और अमेरिका में रहने वालों के मन में पराधीन भारतीयों के प्रति हीनता की भावना थी।

Read More: Top 5 phones under 20k

50 MP कैमरे और 66W फास्ट चार्जिंग के साथ लॉन्च होगा ये धांसू फोन

Top 10 places to visit in Lakshadweep

Top 10 places to visit in Ayodhya

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes: कई लोगों ने यह सुनिश्चित करने का बहुत प्रयास किया कि स्वामी विवेकानन्द को सर्वधर्म परिषद में बोलने के लिए पर्याप्त समय न मिले। लेकिन शिकागो धर्म संसद में अपने संबोधन से सभी का दिल जीतने के बाद स्वामी विवेकानन्द ने एक नया व्यक्तित्व धारण किया। उनके भाषण के बाद दो मिनट तक आर्ट इंस्टीट्यूट ऑफ शिकागो में तालियाँ बजती रहीं।

युवा पीढ़ी को स्वामी विवेकानन्द से प्रेरणा मिलती रहती है। ऐसे में आप स्वामीजी की जयंती पर अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए उनके इन दस अद्भुत विचारों का उपयोग कर सकते हैं। आइए हम आपको स्वामी विवेकानन्द के कुछ प्रसिद्ध विचारों के बारे में बताते हैं। उनके पास ऐसे अनमोल विचार हैं (Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes) जो हर किसी का उत्थान करते हैं और उन्हें पढ़ना महत्वपूर्ण है।

swami vivekananda jayanti images 2024

1. अपने आप को कमज़ोर देखना सबसे बड़ा पाप है।

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

2. जब एक दिन समस्याएं आपके रास्ते में आना बंद हो जाती हैं, तो आप निश्चित रूप से जान जाते हैं कि आप गलत दिशा में जा रहे हैं।

3. आपमें सभी क्षमताएं हैं; आप कुछ भी करने में सक्षम हैं।

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

4. असंभवता से परे जाना ही संभव की सीमाओं की खोज करने का एकमात्र तरीका है।

5. जागो, आगे बढ़ो और तब तक चलते रहो जब तक कार्य पूरा न हो जाए।

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

6. आत्म-विश्वास के बिना ईश्वर पर विश्वास करना असंभव है।

7. विचार जीवित हैं और बहुत लंबी दूरी तय करते हैं; शब्द गौण हैं।

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

8. सारी शक्तियाँ पहले से ही हमारे पास हैं। यह हम ही हैं जो विलाप करते हैं कि बहुत अंधेरा है और अपनी आँखों को हाथों से ढक लेते हैं।

9. जो कुछ भी आपके शारीरिक, मानसिक या आध्यात्मिक स्वास्थ्य को कमजोर करता है, उससे जहर की तरह बचना चाहिए। 

10. कोई भी आपको आध्यात्मिक बनाने या सिखाने में सक्षम नहीं है। आप ही एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जो वास्तव में कुछ भी सीख सकते हैं। आत्मा ही सर्वोत्तम शिक्षक है।

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes

Swami Vivekananda Jayanti 2024 Quotes: ऐसा कहा जाता है कि स्वामी विवेकानन्द एक योगी के गुणों के साथ पैदा हुए थे, उनका मन लगातार अध्ययन और ध्यान में केंद्रित रहता था। अपने प्रारंभिक वर्षों में, स्वामी विवेकानन्द मधुमेह और अस्थमा जैसी स्थितियों से जूझते रहे, और उन्होंने स्वयं भविष्यवाणी भी कर दी थी कि वह 40 वर्ष की आयु तक जीवित नहीं रहेंगे। स्वामी विवेकानन्द इस बात पर अड़े थे कि “अध्यात्म और भारतीय दर्शन के बिना विश्व अनाथ हो जायेगा।” अमेरिका में उन्होंने अनेक रामकृष्ण मिशन शाखाओं की स्थापना की। वे हमेशा खुद को गरीबों का सेवक बताते हैं। 4 जुलाई, 1902 को उनका देहांत हो गया।

Bharatnewsjournal Home Page

Leave a Comment