Antyodaya Anna Yojana scheme in hindi 2024: सबको मिलेगा इस योजना का लाभ, जानिए ऑनलाइन आवेदन, स्टेटस अंत्योदय अन्न लाभार्थी सूची !

Antyodaya Anna Yojana 2024: हमारे देश के अंदर ऐसे गरीब लोग रहते हैं,जिनके पास खाने-पीने का भी कोई साधन नहीं है, जिनके पास कमाई का कोई जरिया नहीं है और जो पूरी तरह से विकलांग हैं। ऐसे लोगों के लिए केंद्र सरकार ने 25 दिसंबर 2000 को अंत्योदय अन्न योजना (AAY) शुरू की थी। इसे खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के माध्यम से चलाया जाता है। जिसके जरिए सरकार गरीब लोगों को हर महीने सरकारी राशन दुकानों से कम दर पर अनाज उपलब्ध कराएगी।यह एक प्रकार का कार्ड है जिसके माध्यम से कोई भी गरीब व्यक्ति, राशन कार्ड धारक इससे राशन खरीद सकेगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Antyodaya Anna Yojana in hindi 2024

Antyodaya Anna Yojana 2024: इसके तहत सरकार उन लोगों को हर महीने 35 किलो राशन देगी जिसमें गेहूं 2 रुपये किलो और चावल 3 रुपये किलो दिया जाएगा, अगर आप भी अंत्योदय राशन कार्ड के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने राज्य के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग में जाना होगा।

Antyodaya Anna Yojana: सरकार द्वारा दी गई ऑनलाइन सुविधा के माध्यम से आवेदक अपने मोबाइल और कंप्यूटर के माध्यम से पोर्टल पर जाकर आसानी से अंत्योदय अन्न योजना की आवेदन प्रक्रिया की जांच कर सकता है, इसके लिए उसे अब इधर-उधर भटकने की जरूरत नहीं पड़ेगी। हम आपको इससे जुड़े तथ्यों के बारे में बताएंगे जैसे: अंत्योदय अन्न योजना क्या है, Antyodaya Anna Yojana के लिए आवेदन कैसे करें, योजना से जुड़े लाभ, पात्रता, उद्देश्य, अंत्योदय अन्न योजना के लिए फाइलें आदि।

अंत्योदय अन्न योजना 2024

Antyodaya Anna Yojana 2024:आर्थिक स्थिति कमजोर होने पर जो लोग राशन खरीदने में असमर्थ है और जो पूर्ण रूप से दिव्यांग है या जिनके पास आय का कोई स्त्रोत नहीं है उनके लिए इस योजना आरंभ किया गया । इसके लिए वह लोग जो गरीब परिवार से नीचे सम्बन्ध रखते होंगे उन्हें इस कार्ड का लाभ प्राप्त होगा। लाभार्थी को हर महीने 20 किलो गेंहू 2 रुपये के हिसाब से और 15 किलो चावल 3 रुपये के हिसाब से दिए जायेंगे। देश में 10 लाख परिवारों को इसके अंतर्गत लाभ प्राप्त होगा।

अंत्योदय अन्न योजना 2024 उद्देश्य

Antyodaya Anna Yojana 2024: अंत्योदय अन्न योजना का लक्ष्य यह है कि हमारे देश के अंदर जो भी गरीब व्यक्ति हैं, जिनकी आजीविका हालत बहुत खराब है, जिनके पास आय का कोई साधन नहीं है और जो विकलांग हैं और पैसे न होने के कारण राशन खरीदने में सक्षम नहीं हैं, वे सभी लोग हैं इस योजना का लाभ ले सकते है। ऐसे लोगों के लिए ही अंत्योदय अन्न योजना शुरू की गई।इसके तहत लाभार्थियों को अंत्योदय राशन कार्ड प्रदान किया जाएगा, जिसके माध्यम से सरकार उचित मूल्य पर गेहूं, चावल आदि राशन प्रदान करेगी, जिससे गरीबों की आहार प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी और वे सक्षम हो सकेंगे।

अंत्योदय अन्न योजना 2024 लाभ एवं विशेषताएं

  • योजना के लाभ और विशेषताएं इस प्रकार हैं:
  • योजना के तहत लोगों को सरकारी राशन दुकानों से हर महीने राशन उपलब्ध कराया जाएगा।
  • जो लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं या जो विकलांग हैं उन्हें इस योजना का लाभ मिलता है।
  • अंत्योदय कार्ड के जरिए लोगों को 35 किलो राशन दिया जाएगा, जिसमें 2 रुपए प्रति माह की दर से 20 किलो गेहूं और 3 रुपए प्रति माह की दर से 15 किलो चावल शामिल है।
  • योजना के तहत अभ्यर्थियों को कोटा कार्ड प्रदान किया जाएगा।
  • कस्बों और ग्रामीण इलाकों में रहने वाले गरीब लोग अंत्योदय अन्न योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • ऑनलाइन माध्यम से योजना का आवेदन करने पर लोगो के पैसे और समय दोनों की बचत होगी।
  • यदि कोई भी नागरिक एक बार इस योजना का लाभार्थी बन जाता है तो उसके बाद उसे सरकार द्वारा अंत्योदय राशन कार्ड प्रदान किया जाता है जिसके जरिये उसे राशन प्राप्त होता है।
  • अंत्योदय राशन कार्ड को सार्वजनिक वितरण कार्ड या पीला कार्ड भी कहा जाता है।
  • देश के 2.50 करोड़ गरीब परिवारों को इस योजना के अंतर्गत शामिल करने का निश्चय किया गया है।

AAY (Antyodaya Anna Yojana) दस्तावेज

आज हम आपको योजना का आवेदन करने के लिए आवेदन फॉर्म में मांगे गए सभी दस्तावेजों के बारे में जानकारी देने वाले है, जिससे आप आसानी से योजना का लाभ उठा सकेंगे। दस्तावेज इस प्रकार से है:

  • आधार कार्ड
  • वोटर ID कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
  • पटवारी द्वारा जारी आवेदक का इनकम सर्टिफिकेट

योजना के लिए पात्रता

Antyodaya Anna Yojana: इसके लिए केवल वही पात्र माना जाएगा जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहा हो।
अंत्योदय राशन कार्ड के लिए आवेदक का चयन नामित प्राधिकारी द्वारा किया जाएगा।
योजना के लिए पात्र होने के लिए, आवेदक को एक घोषणा पत्र देना होगा जिसमें यह दर्शाया गया हो कि उसके पास अब कोई अन्य राशन कार्ड नहीं है।

अंत्योदय अन्न योजना का आवेदन कैसे करें?

  • यदि आप ही इस योजना का आवेदन करना चाहते है और इसका लाभ पाना चाहते है तो दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।
  • AAY का आवेदन करने के लिए, उम्मीदवार सबसे पहले अपने राज्य में खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग में जाते हैं।
  • यहां आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी फाइलें अपने साथ ले जानी चाहिए।
  • इसके बाद आपको विभाग के वैध से अंत्योदय अन्न योजना के लिए आवेदन करने का फॉर्म मिल जाएगा।
  • अब फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी भरें जैसे: आपका नाम, पिता/पति का नाम, लिंग, जन्मतिथि, पता आदि।
  • इसके साथ ही आपको फॉर्म के अंदर मांगी गई सभी फाइलों की इमेज कॉपी भी संलग्न करनी होगी।
  • फॉर्म में सभी आंकड़े भरने के बाद, फॉर्म का दोबारा अध्ययन करें और कहीं भी कोई गलती हो तो उसे ठीक करें।
  • इसके बाद आप आवेदन फॉर्म से संबंधित विभाग के अधिकारी के पास रखें।
  • अधिकारी द्वारा सभी फाइलें प्रमाणित होने के बाद, आप इसकी आवेदन स्थिति की जांच करने की स्थिति में होंगे।

निष्कर्ष

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। हमने अपने इस लेख में अंत्योदय अन्न योजना (Antyodaya Anna Yojana) से जुड़ी संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है। अगर इससे जुड़े कोई प्रश्न हो तो आप हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। धन्यवाद !

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Related FAQs)

अंत्योदय अन्न योजना कब शुरू हुई और क्या है

अंत्योदय अन्न योजना देश में रहने वाले गरीब परिवारों को प्रायोजित भोजन प्रदान करने के लिए बनाई गई है।यह योजना 25 दिसंबर 2000 को शुरू हुई थी।

अंत्योदय अन्न योजना की शुरुआत किसने की?

अंत्योदय अन्न योजना केंद्रीय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री शांता कुमार की सहायता से शुरू की गई है।यह योजना पहली बार राजस्थान राज्य में लागू की गई।

AAY योजना का लाभ किसे मिलता है?

कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले सबसे गरीब और विकलांग लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा।जिससे वह अपने खाने-पीने की आर्थिक स्थिति में सुधार कर सकेगा।

अंत्योदय कार्ड बनवाने के लिए पात्रता क्या है?

अंत्योदय कार्ड अत्यंत गरीब परिवारों के लिए बनाए जाते हैं, यानी आवेदक को गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करना होगा।

इस योजना के तहत कितना राशन मिलना है?

अंत्योदय अन्न योजना के माध्यम से प्रत्येक अंत्योदय कार्ड वाले परिवारों को 2 रुपये प्रति किलो की दर से 20 किलो गेहूं और 3 रुपये प्रति किलो की दर से 15 किलो चावल दिया जाता है।

Bharatnewsjournal Home Page

Leave a Comment