Telegram icon WhatsApp icon

7th Pay Commission News: 18 महीने के बकाया डीए पर कर्मचारियों को मिला बड़ा अपडेट, जल्द सुनने को मिलेगी गुड न्यूज़!

7th Pay Commission News: क्या केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को महंगाई भत्ता (डीए) और महंगाई राहत (डीआर) का भुगतान वापस किया जाएगा जो कोविड -19 महामारी के दौरान अठारह महीने से रुका हुआ था? भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के महासचिव मुकेश सिंह ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को लिखे पत्र में केंद्र सरकार से 18 महीने पुराने निलंबित डीए बकाया का भुगतान करने का आग्रह किया। साल की पहली छमाही में महंगाई भत्ते (डीए) में बढ़ोतरी की संभावना के कारण, केंद्रीय कर्मचारी आवश्यक जीवनयापन की समस्या आने पर सावधानी बरत रहे हैं।

केंद्र सरकार ने COVID-19 महामारी के बाद जनवरी 2020 से जून 2021 तक अठारह महीनों के लिए DA और DR के भुगतान को निलंबित कर दिया। केंद्रीय कर्मचारियों को साल की पहली छमाही के लिए महंगाई भत्ते (7th Pay Commission News) में बढ़ोतरी के संबंध में मार्च में सरकार से सुनवाई की उम्मीद है। इस बीच, कोविड संकट के दौरान 18 महीने के बकाये की चर्चा जोर पकड़ रही है।

Read More: 7th Pay Commission Latest News: उत्तराखंड सरकार ने अपने राज्य कर्मचारियों का बढ़ा दिया महंगाई भत्ता, अब 4% बढ़कर मिलेगा डीए

7th Pay Commission: सभी केंद्रीय कर्मचारियों की हो गई बल्ले-बल्ले, किस दिन होगी महंगाई भत्ते में छप्परफाड़ वृद्धि?

7th Pay Commission DA Arrear: अब कब मिलेगा केंद्रीय कर्मचारियों को 18 महीने के बकाया डीए का एर‍ियर, सामने आई बड़ी जानकारी

7th Pay Commission Latest Update: 31 जनवरी के बाद इस भत्ते में होगी 3 प्रतिशत की बढ़त, केंद्रीय कर्मचारियों को 2021 के बाद इस साल मिलेगा सबसे अधिक लाभ

7th Pay Commission News: कब से कब तक का मिलेगा डीए एरियर?

7th Pay Commission News: वित्त मंत्रालय ने कोरोना महामारी के दौरान केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता ख़त्म कर दिया। केंद्र सरकार ने जनवरी 2020 से जून 2021 तक अठारह महीनों के भत्ते का भुगतान नहीं किया। प्रशासन यह स्पष्ट करने में विफल रहा कि स्थिति कब सामान्य होगी और बकाया का भुगतान कैसे किया जाएगा। लोकसभा में एक प्रश्न के उत्तर में, मंत्री वित्त मंत्रालय के राज्य सचिव पंकज चौधरी ने पहले कहा था कि 2020 में महामारी के प्रतिकूल वित्तीय प्रभाव और वित्तीय वर्ष 2020-21 से पहले के कल्याणकारी उपायों के वित्तीय परिणामों ने इसे अव्यवहारिक बना दिया है।

7th Pay Commission News

7th Pay Commission News: फिर हुई चर्चा तेज़

7th Pay Commission News: भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के महासचिव मुकेश सिंह ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखा है। उन्होंने इस पत्र में स्वीकार किया है कि वह कोरोना वायरस के कारण होने वाली कठिनाइयों और वित्तीय कठिनाइयों से अवगत हैं। इसके अतिरिक्त, उन्होंने जोर देकर कहा कि देश वर्तमान में महामारी के प्रभाव से उबर रहा है और इसकी वित्तीय परिस्थितियां बेहतर हो रही हैं। भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के महासचिव मुकेश सिंह ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि सरकार 18 महीने की विलंबित डीए बकाया राशि वापस करे।

7th Pay Commission News

COVID-19 महामारी के कारण हुई असाधारण कठिनाइयों के कारण, केंद्र सरकार ने जनवरी 2020 से जून 2021 तक अठारह महीने की अवधि के लिए DA और DR भुगतान को निलंबित करने का निर्णय लिया। मुकेश सिंह ने आगे कहा कि महामारी के कठिन दौर में सेवानिवृत्त कर्मियों और सरकारी कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनकी निरंतर प्रतिबद्धता और परिश्रम ने सुनिश्चित किया कि महत्वपूर्ण सेवाएं अच्छी तरह से चलती रहें, जिससे कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद मिली।

मुकेश सिंह के मुताबिक अगले बजट सत्र में अठारह महीने का बकाया भुगतान किया जाना चाहिए। उनका मानना ​​है कि सरकार द्वारा कोविड महामारी के प्रभावों को दूर करने के लिए धनराशि अलग रखी जाएगी। डीए का बकाया जारी होने पर सरकारी कर्मचारियों को बेहतर महसूस होगा। इस समाधान से सेवानिवृत्त आबादी को भी लाभ होगा। मुकेश सिंह का कहना है कि यह उचित और न्यायोचित है। ऐसे कदम उठाने से लोगों का आत्मविश्वास बढ़ेगा।

7th Pay Commission News

7th Pay Commission News: 4 फ़ीसदी बढ़ोतरी की फिर है उम्मीद

7th Pay Commission News: सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए, डीए उनके वेतन का एक अनिवार्य हिस्सा है जो मुद्रास्फीति के प्रभावों का प्रतिकार करने के लिए है। केंद्र सरकार द्वारा आमतौर पर डीए को साल में दो बार जनवरी और जुलाई में संशोधित किया जाता है। नवीनतम अपडेट के अनुसार, 1 जुलाई, 2023 से सेवानिवृत्त लोगों के लिए डीआर और केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए डीए 42% से बढ़ाकर 46% कर दिया गया है।

इसके बाद अब 4 या 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जा रही है। इस बढ़ोतरी से 48.67 लाख कर्मचारियों और 67.95 लाख पेंशनभोगियों को फ़ायदा होगा। इस वृद्धि के परिणामस्वरूप पेंशनभोगियों और कर्मचारियों की वित्तीय स्थिति बेहतर होगी। इस संशोधन से सरकारी कर्मचारियों की वित्तीय स्थिरता में सुधार होगा।

Bharatnewsjournal Home Page

Leave a Comment